बजट 2019 : मिडिल क्लास को मिले किस तरह के उपहार 77

Family of four on a bike

बजट 2019 के प्रस्तावों को अगर मिडिल क्लास थोड़ी सूझ भुझ से समझेगा तो पाएगा कि इसमें चार उपहार छिपे हुए हैं उसके लिए

कार्यकारी वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने फ़रवरी 1, 2019 को अंतरिम बजट 2019 संसद में पेश किया। इस बजट 2019 में समाज के अनेक वर्गों के लिए कई एलान किये गए हैं।

आइये जानते हैं कि इस बजट में नौकरीपेशा लोगों के लिए किस तरह के फ़ायदे हैं।

  1. टैक्स सीमा बढ़ी

  2. स्टैण्डर्ड डिडक्शन (मानक कटौती) बढ़ा

  3. ग्रेचुइटी की सीमा बढ़ी

  4. जमा राशि के ब्याज पर TDS सीमा बढ़ी

  1. टैक्स सीमा बढ़ी

अगर आपकी आय सालाना 5 लाख रुपये तक की है, तो उस पर टैक्स नहीं लगेगा। लेकिन अगर आपकी टैक्सेबल आमदनी 5 लाख रूपये से अधिक है, तो वह छूट के दायरे से बाहर हो जाएगी।

साथ ही कुल आमदनी अगर 6.50 लाख के आसपास है, तो भी आपको इनकम टैक्स चुकाने की ज़रूरत नहीं। ये तब हो सकता है अगर आप I-T कानून के सेक्शन 80C के तहत 1.5 लाख रुपये किसी स्कीम में निवेश करें।

एक और रास्ता आपके पास है कि आप एनपीएस, चिकित्सा बीमा और आवास ऋण के ब्याज भुगतान को अपने इन्वेस्टमेंट खर्चे में जोड़ सकते हैं। इससे नॉन-टैक्स सीमा बढ़ जाएगी।

2. स्टैण्डर्ड डिडक्शन (मानक कटौती) बढ़ी

मध्यम वर्ग के लिए कुछ और राहत ये है कि आयकर में मानक कटौती की सीमा बढ़ा दी गयी है। पहले ये 40,000 थी, अब प्रस्ताव के अनुसार इसे 50,000 रुपये कर दिया गया है। इससे करीब तीन करोड़ करदाताओं को लाभ मिलेगा।

3. ग्रैच्युटी की सीमा बढ़ी

अगर आप पांच साल से ज़्यादा किसी कंपनी में काम कर रहे हैं तो आप ग्रैच्युटी के हकदार होते हैं। बजट 2019 में सरकार ने कर्मचारियों की ग्रैच्युटी लिमिट डबल कर दिया है। अब यह लिमिट 20 लाख रुपये हो गयी है। पहले ये लिमिट दस लाख थी।

4. जमा राशि के ब्याज पर TDS सीमा बढ़ी

यदि आपने अपनी मेहनत से कमाई हुई इनकम किसी बैंक या डाकघर की स्कीम में जमा की है, तो आप खुश हो जाइए। बजट 2019 में इस राशि से जो भी अर्जित ब्याज होगा, उस पर कर कटौती (TDS) 10,000 से बढ़ाकर 40,000 रूपये कर दी गयी है।

ये मोदी सरकार का छठा बजट पेश हुआ है। पीयूष गोयल ने अपने अंतरिम बजट के डेढ़ घंटे के भाषण में किसान, मज़दूर, महिला, सैनिक और नौकरीपेशा जैसे कई वर्गों को साधने की कोशिश की। चुनावी साल में ये कितना कारगर होता है वोट खींचने में ये तो चुनाव परिणाम ही बताएगा।


आप बताइए – क्या बजट 2019 मिडिल क्लास लोगों के लिए अच्छा था ?


Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your e-mail address will not be published. Required fields are marked *