PUBG Mobile के रोमांचक, खूनी संसार ने ले ली एक जान 25

pubg mobile game

कुछ महीनों से PUBG Mobile गेम इतना लोकप्रिय हुआ है देश में कि इसे खेलने वाले ऐसे बेसुध होकर खेल रहे हैं जिससे कई दुष्परिणाम सामने आए हैं

Playerunknown’s Battlegrounds या PUBG Mobile एक ऐसा वीडियो गेम है जो मोबाइल फ़ोन पर बड़े चाव से खेला जा रहा है। वो अलग बात है कि इस मोबाइल गेम में खून खराबा, शूटिंग और किलिंग भरी हुई है और लोगों को ऐसे खेल में बहुत रोमांच आ रहा है।

इतना रोमांच कि खेलने वाले बेसुध होकर PUBG Mobile खेल रहे हैं, बिना अपनी सेहत और मानसिक संतुलन की परवाह करते हुए। ऐसे खेल किस तरह के संगीन दुष्परिणाम लाते हैं, इसकी एक दुखद ख़बर मध्यप्रदेश से आई है।

पढ़िये: PUBG Mobile — 6 घंटे से लगातार खेल रहा था पबजी, दिल का दौर पड़ने से हुई मौत

मध्यप्रदेश का हादसा

27 मई, 2019 को मध्यप्रदेश के नीमच शहर से समाचार आया कि एक स्कूली छात्र छह घंटे तक लगातार PUBG Mobile खेलता रहा। इसके बाद आवेश में आकर उसने गेम छोड़ दिया और कुछ ही देर में वो बेहोश होकर ज़मीन पर गिर पड़ा।

अस्पताल पहुंचने पर पता चला कि उसे दिल का दौरा पड़ा था जिससे अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मृत्यु हो गई। दुखद बात ये थी कि PUBG Mobile गेम में अपनी टीम की हार होने से उस छात्र को धक्का लगा और गहरी ठेस पहुंची।

हृदय विशेषज्ञयों ने इस घटना के बारे में कहा कि ऐसे गेम से मानसिक जुड़ाव की वजह की वजह से खेलने वाला अत्यधिक आवेश में भी आ जाता है। इस कारण दिल का दौरा पड़ने की संभावना बहुत बढ़ जाती है, जो इस छात्र के साथ हुआ।

शायद इसी वजह से कुछ हफ़्ते पहले गुजरात में PUBG Mobile पर सरकार ने बैन भी लगाया था। बाद में इस गेम को खेलते हुए कई नवयुवकों को गिरफ़्तार भी किया गया था। फ़िलहाल इस गेम पर बैन हटा दिया गया है।

PUBG Mobile की हिदायत

अपनी तरफ़ से PUBG Mobile कंपनी भी खिलाड़ियों को नसीहत देता है कि इस गेम को सेहत का ध्यान रखते हुए कैसे खेलना चाहिए। अपने एक हिदायत में ये गेम हर खिलाड़ी से लॉगिन से पहले पूछता है कि वो 18 साल से ऊपर है कि नहीं।

गेम ये भी समझाता है कि हर 45 मिनट खेलने पर खिलाड़ियों को नोटिफ़िकेशन दिया जाता है कि वो अब आराम करें।  

PUBG Mobile कम्पनी के हिसाब से तो वो अपनी ज़िम्मेदारी का पालन कर रहा है और खिलाड़ियों को हर तरह से अपनी सेहत का ध्यान रखने की भी नसीहत दे रहा है।

और पढ़िये: The PUBG Battles – from Virtual to Real. IFF vs. The State of Gujarat

स्वस्थ गेमिंग की आदत

हमारे देश में कोने-कोने में internet और स्मार्टफ़ोन का प्रभाव हावी हो रहा है। अब ये बडों पर एक और ज़िम्मेदारी आ गयी है कि अपने बच्चों को PUBG Mobile और अन्य कई ऐसे मोबाइल गेम्स के हानिकारक तत्वों के बारे में सचेत करें।

PUBG Mobile के रोमांचक, खूनी संसार ने ले ली एक जान इस मोबाइल युग में स्वस्थ गेमिंग के तरीकों और आदत के बारे में अपने बच्चों को आगाह करना अब माँ-बाप के लिए एक नई चुनौती बन के आ गया है। अब बड़ों को चाहिए कि बच्चों को मोबाइल स्क्रीन से थोड़ी दूरी बना के रखने को कहें। बच्चों को असली प्लेग्राउंड पर भी लायें जहाँ उनकी नेचुरल तरीके से दिमाग और शरीर की सही कसरत भी हो।

Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *