युवाओं को ना भाये शादी वाली कथाये 1225

आज कल युवा अपने जीवन को जीने में इतना व्यस्त हो गए है कि उनको आज और कल की कोई खबर ही नहीं रहती है। शादी करना है या नहीं करना है ये आपका निजी फैसला है लेकिन बढ़ती आबादी को देखते हुए अगर युवा शादी से परहेज कर रहे है तो कदम देश के हित में होगा। 130 करोड़ की जनता में 50% युवा है। जो देश की धीमी रफ़्तार को गति देने में कारगर साबित हो सकते है।
ना सोने का होश है ना खाने का ठिकाना
ये कैसी जवानी है ग़ालिब हमे बताना

पूरा दिन ऑफिस की भाग दौड़ और उसके बाद खुद के लिए बचा हुआ थोड़ा सा समय जिसमे आज कल के युवाओं को मोबाइल से फुर्सत नहीं मिलती। अब ऐसे में कोई उनसे बोले की शादी का क्या प्लान है तो इतना सुनते ही युवाओ के सारे प्लान फेल हो जाते है।
किधर को जाते है, किधर से आते है
ध्यान कुछ भी रहता नहीं है
क्या जीवन है क्या जवानी है
दीवाना है अपनी धुन में
कुछ कहता नहीं है।

आज के दौर में युवाओ को जल्दी किसी पर भरोसा होना बहुत ही मुश्किल हो गया है अब ऐसी स्थिति में जल्दीबाज़ी में जीवनसाथी का चयन करना भी उतना ही मुश्किल हो गया है जितना रेगिस्तान में पानी मिलना। कुछ कारणों की वजह से ही युवाओं का शादी से ध्यान हटने लगा है और वे पश्चिमी सभ्यता की ओर खुद को धकेलते हुए नज़र आ रहे है। जहां बिन फेरे हम तेरे वाली प्रथा अभी तक अपने पीक लेवल पर है।

एक ताज़ा शोध में पाया गया है कि 25 प्रतिशत युवा शादी करना ही नहीं चाहते है। जो अब तक के सबसे ज्यादा हैरत में डालने वाले आकड़े है। आज कल लाइफ में सेट होना शादी होने से ज्यादा जरूरी हो गया है। पैसे की परेशानी को दूर करने के बाद ही युवा शादी के सपने देखने की सोचते है। पैसा है तो सब कुछ है ना कोई कमी है। गुनगुनाते नज़र आते है।


Previous ArticleNext Article

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *